उमा जी सामने होती, तो गर्दन पकङ लेता : स्वामी सानंद

प्रस्तोता: अरुण तिवारी (यह प्रस्तुति, इसी जुलाई के दूसरे सप्ताह में स्वामी सानंद से हुई बातचीत के अंशों पर...

क्यों है खास चातुर्मास ?

लेखक: अरुण तिवारी चातुर्मास का मतलब है, आषाढ मास के शुक्ल पक्ष की देवशयनी एकादशी से लेकर कार्तिक मास...

मेरा देहदान हो, श्राद्ध नहीं : स्वामी सानंद

प्रस्तुति: अरुण तिवारी प्रो जी डी अग्रवाल जी से स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद जी का नामकरण हासिल गंगापुत्र की एक...

अविवाहित सानंद की पारिवारिक दृष्टि

प्रस्तुति: अरुण तिवारी  प्रो जी डी अग्रवाल जी से स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद जी का नामकरण हासिल गंगापुत्र की एक...

साधुओं ने गंगाजी के लिए क्या किया ? : स्वामी सानंद

प्रस्तुति: अरुण तिवारी  प्रो जी डी अग्रवाल जी से स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद जी का नामकरण हासिल गंगापुत्र की एक...
आज का लेख, नदी लेख, संवाद
उमा जी सामने होती, तो गर्दन पकङ लेता : स्वामी सानंद
आज का लेख, प्रकृति लेख, समय विशेष
क्यों है खास चातुर्मास ?
Uncategorized
मेरा देहदान हो, श्राद्ध नहीं : स्वामी सानंद
आज का लेख, संवाद
अविवाहित सानंद की पारिवारिक दृष्टि
आज का लेख, संवाद
साधुओं ने गंगाजी के लिए क्या किया ? : स्वामी सानंद
आज का लेख, पानी लेख

सत्यमेव जयते वाटर कप के बारे में एक वृतचित्र – दुष्काल दोन हात ( द बैटल अगेंस्ट ड्रॉट )

( पानी के लिए लोगों को जोड़ने के लिए आमिर खान के नेतृत्व में किया गया एक अनूठा प्रयोग )प्रेषक – पानी फाउंडेशन टीम  From: Paani Foundation <paanifoundation@paanifoundation.in>Date: Fri, Sep 2, 2016 at 4:09 PM Dear all, Hope you’re doing very well. As you might know, the core team of Satyamev Jayate has…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख

बाढ़ नहीं, इसकी तीव्रता व टिकाऊपन से डरें

लेखक : अरुण तिवारी बाढ़ के कारणों पर चर्चा के शुरु में ही एक बात साफ कर देनी जरूरी है कि बाढ़ बुरी नहीं होती; बुरी होती है एक सीमा से अधिक उसकी तीव्रता तथा उसका जरूरत से ज्यादा दिनों तक टिक जाना। बाढ़, नुकसान से ज्यादा नफा देती है।   “वे…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख

एक चिट्ठी, धर्माचार्यों के नाम

संदर्भ: मूर्ति विसर्जन पर प्रधानमंत्री जी  के मन की बात 01-09-2016 सभी आदरणीय धर्माचार्यों को प्रणाम।  मूर्ति विसर्जन से नदी प्रदूषण के मसले को लेकर ’मन की बात’ कहते हुए प्रधानमंत्री जी ने प्लास्टिक आॅफ पेरिस की बनी मूर्तियों का इस्तेमाल न करने का जो आहवा्न किया है, निश्चित ही वह प्रशंसनीय है,…

Continue reading
आज का लेख, समय विशेष

हमारी आज़ादी : कितनी पूरी, कितनी अधूरी

लेखक: अरुण तिवारी{ स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामना सहित पानी पोस्ट टीम की ओर से विशेष निवेदन } हासिल स्वतंत्रता, किसी के लिए भी निस्संदेह एक गर्व करने लायक उपलब्धि होती है और स्वतंत्रता दिवस, स्वतंत्रता दिलाने वालों की कुर्बानी को याद करने व जश्न मनाने का दिन । एक देश के लिए उसका…

Continue reading
Uncategorized

हानिकारक रसायनों पर सजगता व सख्ती ज़रूरी

लेखक: अरुण तिवारी पोटेशियम ब्रोमेट एक ऐसा रसायन है, जिसके कारण इंसान में पेट का कैंसर, गुरदे में ट्युमर, थायोराइड संबंधी असंतुलन तथा तंत्रिका तंत्र संबंधी बीमारियां होने की संभावना रहती है। इसे कैंसर संभावित रसायनों की 2बी श्रेणी में रखा गया है। पोटेशियम आयोडेट से थायोरायड संबंधी असंतुलन पैदा…

Continue reading
आज का लेख

हानिकारक रसायनों पर सजगता व सख्ती ज़रूरी

लेखक: अरुण तिवारी पोटेशियम ब्रोमेट एक ऐसा रसायन है, जिसके कारण इंसान में पेट का कैंसर, गुरदे में ट्युमर, थायोराइड संबंधी असंतुलन तथा तंत्रिका तंत्र संबंधी बीमारियां होने की संभावना रहती है। इसे कैंसर संभावित रसायनों की 2बी श्रेणी में रखा गया है। पोटेशियम आयोडेट से थायोरायड संबंधी असंतुलन पैदा…

Continue reading
आज का लेख

हानिकारक रसायनों पर सजगता व सख्ती ज़रूरी

लेखक: अरुण तिवारी पोटेशियम ब्रोमेट एक ऐसा रसायन है, जिसके कारण इंसान में पेट का कैंसर, गुरदे में ट्युमर, थायोराइड संबंधी असंतुलन तथा तंत्रिका तंत्र संबंधी बीमारियां होने की संभावना रहती है। इसे कैंसर संभावित रसायनों की 2बी श्रेणी में रखा गया है। पोटेशियम आयोडेट से थायोरायड संबंधी असंतुलन पैदा…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख

अवैध खनन को नियमित करने में जुटे हरीश रावत : गंगा का क्या होगा ??

प्रेस विज्ञप्तिदिनांक 25 जुलाई, 2016, मातृसदन, हरिद्वार विरोध करेगा  मातृसदन   यह प्रमाणित तथ्य है कि गंगाजी में एक भी पत्थर उपर से बहकर / लुढ़कर हरिद्वार में नहीं आता है। इस बात को स्वयं केन्द्रीय वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, नई दिल्ली ने जाँच में प्रमाणित किया है। वर्ष…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख

अवैध खनन को नियमित करने में जुटे हरीश रावत : गंगा का क्या होगा ??

प्रेस विज्ञप्ति दिनांक 25 जुलाई, 2016, मातृसदन, हरिद्वार विरोध करेगा  मातृसदन  यह प्रमाणित तथ्य है कि गंगाजी में एक भी पत्थर उपर से बहकर / लुढ़कर हरिद्वार में नहीं आता है। इस बात को स्वयं केन्द्रीय वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, नई दिल्ली ने जाँच में प्रमाणित किया है।…

Continue reading

Popular posts

भारतीय दर्शन में प्रकृति और जल

प्रस्तुति  : अरुण तिवारी हम स्वयं और हमारे पास-दूर जिस किसी वस्तु या क्रिया का अस्तित्व है, जो दिखती है और जो नहीं भी दिखती है, वही तो प्रकृति...

स्वामी सानंद: परिवार और यूनिवर्सिटी ने मिल गढ़ा गंगा व्यक्तित्व

12.06.2016 आदरणीय / आदरणीया पाठकगण  हमसे बड़ी भूल हुई है .  हम क्षमा चाहते हैं  कि स्वामी सानन्द गंगा संकल्प श्रृंखला के कथन प्रस्तुत करते हुए भूलवश कथन  संख्या 15,...