Uncategorized, आज का लेख, जलतरंग

मैं हैरां हूं, परेशां हूं, मैं मां तेरी…

ये नादानी, ये मनमानी,
न जीने देगी कल तुझको,
मैं हैरां हूं, परेशां हूं, मैं मां तेरी…..

Continue reading