Category

पानी लेख

आज का लेख, नदी लेख, पानी लेख, प्रकृति लेख, समय विशेष

NAPM निमंत्रण : ‘मुक्त बहने दो’ पुस्तक विमोचन तथा उत्तराखंड में भूमि का सवाल पर चर्चा

जन आंदोलनों का राष्ट्रीय समन्वय, उत्तराखंड                      कंडी खाल, पो0 आ0 कैम्पटी वाया मसूरी, टिहरी गढवाल, उत्तराखंड–248179      09718479517, 9927145123 निमंत्रण  10 जून, 2017 शनिवार   समय- 11 बजे से 3.30 तक स्थान- जैन धर्मशाला, निकट प्रिंस चौक, देहरादून, उत्तराखंड                                            …

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख, पानी लेख

केन-बेतवा नदी जोड़

गठजोड़ हुआ, तो पन्ना टाइगर रिज़र्व का नाश तय  लेखक : आशीष सागर बुन्देलखण्ड क्षेत्र के यूपी-एमपी में प्रस्तावित केन-बेतवा नदी लिंक प्राकृतिक आपदा है – केंद्र सरकार ने फारेस्ट एडवाइजरी कमेटी से वन्यभूमि अधिग्रहण करने की एनओसी प्राप्त की – पर्यावरण मंत्रालय ने अभी मामले को उलझा रखा है उधर सुप्रीम कोर्ट अपनी निगरानी में टाइगर बफर जोन में…

Continue reading
पानी लेख, समय विशेष

दुष्काल मुक्त भारत अभियान : निमंत्रण-पत्र

  आदरणीया मित्रों,    नमस्कार! इस वर्ष देश के कई हिस्से भयंकर दुष्काल से प्रभावित हैं। प्रभावित क्षेत्रों में पहले ऐसा जलवायु परिवर्तन का असर नहीं होता था परन्तु कुछ वर्षों में ये क्षेत्र भी सूखे और बाढ़ की चपेट में एक साथ आने लगे। आजादी के बाद से भारत की केन्द्र और राज्य सरकारों ने जल प्रबन्धन के लिए…

Continue reading
आज का लेख, पानी लेख, समय विशेष

28 अप्रैल – अक्षय तृतीया पर विशेष : आइये, पानी के व्यावसायीकरण को चुनौती दें

  पानी के बाज़ार के खिलाफ एक औजार : प्याऊ  लेखक: अरुण तिवारी   अक्षया तृतीया की हार्दिक शुभकामना ! अक्षय तृतीया को राजस्थान में ’आखा तीज’ कहते हैं। ‘आखा तीज’ यानी अबूझ सावा का दिन। अबूझ सावा यानी एक ऐसा मुहुर्त, जिस मुहुर्त में बिना किसी पण्डित या ज्योतिषी से पूछे कोई भी शुभ काम शुरु किया जा सकता…

Continue reading
आज का लेख, पानी लेख

एकमात्र तैरती झील लोकटक

  लेखक: अरुण तिवारी   लोकटक झील, भारत में ताजे पानी की सबसे बड़ी झील है। यह झील मणिपुर की राजधानी इम्फाल से 53 किलोमीटर दूर और दीमापुर रेलवे स्टेशन के निकट स्थित है। 34.4 डिग्री सेल्सियस का तापमान, 49 से 81 प्रतिशत तक की नमी, 1,183 मिलीमीटर का वार्षिक वर्षा औसत तथा पबोट, तोया और चिंगजाओ पहाड़ मिलकर इसका…

Continue reading
आज का लेख, पानी लेख

सबसे नम मावसीरम

लेखक: अरुण तिवारी   वायु, स्थान विशेष की मिट्टी का प्रकार, भूतल की परतें, परतों में भी चट्टानी परत की उपस्थिति-अनुपस्थिति, स्थान विशेष में होने वाली औसत वर्षा, वर्षा जल संचयन के ढांचे तथा जल संचयन व जलनिकासी की वस्तुस्थिति आदि मिलकर तय करते हैं कि किसी स्थान की पानी सोखने की क्षमता कितनी होगी। पानी सोखने की क्षमता तय करती…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख, पानी लेख, प्रकृति लेख

२२ अप्रैल – पृथ्वी दिवस पर विशेष : भाग 05

कैसे मनायें पृथ्वी दिवस ? लेखक :  अरुण तिवारी  पृथ्वी दिवस – हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी 22 अप्रैल को आ ही गया अंतर्राष्ट्रीय मां पृथ्वी का यह दिन। सोचना यह है कि हम इसे कैसे मनायें ? सीधे कहूं तो पृथ्वी दिवस पर दुनियाभर में गोष्ठी, सेमिनार, संवाद, कार्यशालायें आयोजित होती ही हैं। इनमें भाग ले सकते हैं;…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख, पानी लेख, प्रकृति लेख, समय विशेष

२२ अप्रैल – पृथ्वी दिवस पर विशेष : भाग 04

भारतीय, इसलिए भी मनायें पृथ्वी दिवस लेखक :  अरुण तिवारी  यूं तो मैं सीधे-सीधे कह सकता हूं कि 22 अप्रैल-पृथ्वी दिवस, सिर्फ संयुक्त राष्ट्र संघ अथवा संयुक्त राज्य अमेरिका से जुङे संगठनों व देशों को पृथ्वी के प्रति दायित्व निर्वाह की याद दिलाने का मौका नहीं है; यह प्रत्येक जीव के याद करने का मौका है कि पृथ्वी के प्रति…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख, पानी लेख, प्रकृति लेख, समय विशेष

22 अप्रैल- पृथ्वी दिवस पर विशेष : भाग -03

22 अप्रैल कैसे बना पृथ्वी दिवस ?? लेखक :  अरुण तिवारी  भारतीय कालगणना दुनिया में सबसे पुरानी है। इसके अनुसार, भारतीय नववर्ष का पहला दिन, सृष्टि रचना की शुरुआत का दिन है। आई आई टी, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के प्रोफेसर डाॅ. बिशन किशोर कहते हैं कि यह एक तरह से पृथ्वी का जन्मदिन की तिथि है। तद्नुसार इस भारतीय नववर्ष…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख, पानी लेख, प्रकृति लेख

२२ अप्रैल -पृथ्वी दिवस पर विशेष : भाग – 02

धरती की डाक सुनो रे केऊ  लेखक :  अरुण तिवारी    मनुस्मृति के प्रलय खंड में प्रलय आने से पूर्व लंबे समय तक अग्नि वर्षा और फिर सैकङो वर्ष तक बारिश ही बारिश का जिक्र किया गया है। क्या वैसे ही लक्षणों की शुरुआत हो चुकी है ?  तापमान नामक डाकिये के जरिये भेजी पृथ्वी की चिट्ठी का ताजा संदेशा तो…

Continue reading