आज का लेख, समय विशेष

19 दिसंबर : अनुपम स्मृतिFeatured

नागरिकता संशोधन से उपजे असंयम के बीच  संयमी भाषा  के धनी श्री अनुपम मिश्र जी  की पुण्य तिथि पर विशेष  अनुपम साहित्य को खंगालने का वक्त जब देह थी, तब अनुपम नहीं; अब देह नहीं, पर अनुपम हैं। आप इसे मेरा निकटदृष्टि दोष कहें या दूरदृष्टि दोष; जब तक अनुपम जी की देह थी, तब…

Continue reading