दीपपर्व 2017 मंगलमय

  जब अंधकार की चुनौती पर  कोई दिल संकल्प ठानता है, कुछ किरणें लोहा लेती हैं, कुछ दीए सूरज...

05 सितम्बर - भारतीय  राष्ट्रीय शिक्षक दिवस पर विशेष 

डी एन ए विकसित करने की भूमिका में आयें शिक्षक लेखक: अरुण तिवारी   शानदार इमारतें, आधुनिकतम उपकरण, तकनीक,...

समाज का प्रकृति एजेण्डा जगाती एक पुस्तक

  पुस्तक का नाम: समाज, प्रकृति और विज्ञान लेखक: श्री विजयदत्त श्रीधर, श्री राजेन्द्र हरदेनिया, श्री कृष्ण गोपाल व्यास,...

गंगोत्री के हरे पहरेदारों की पुकार सुनो

लेखक: सुरेश भाई एक ओर ‘नमामि गंगे’  के तहत् 30 हजार  हेक्टेयर भूमि पर वनों के रोपण का लक्ष्य...

NAPM निमंत्रण : ‘मुक्त बहने दो’ पुस्तक विमोचन तथा उत्तराखंड में भूमि का सवाल पर चर्चा

जन आंदोलनों का राष्ट्रीय समन्वय, उत्तराखंड                      कंडी खाल, पो0 आ0 कैम्पटी वाया मसूरी, टिहरी गढवाल, उत्तराखंड–248179      09718479517, 9927145123...
आज का लेख, समय विशेष
दीपपर्व 2017 मंगलमय
आज का लेख, समय विशेष
05 सितम्बर - भारतीय  राष्ट्रीय शिक्षक दिवस पर विशेष 
आज का लेख, नदी लेख, पानी लेख, प्रकृति लेख
समाज का प्रकृति एजेण्डा जगाती एक पुस्तक
आज का लेख, नदी लेख, प्रकृति लेख
गंगोत्री के हरे पहरेदारों की पुकार सुनो
आज का लेख, नदी लेख, पानी लेख, प्रकृति लेख, समय विशेष
NAPM निमंत्रण : ‘मुक्त बहने दो’ पुस्तक विमोचन तथा उत्तराखंड में भूमि का सवाल पर चर्चा
आज का लेख, समय विशेष

दीपपर्व 2017 मंगलमय

  जब अंधकार की चुनौती पर  कोई दिल संकल्प ठानता है, कुछ किरणें लोहा लेती हैं, कुछ दीए सूरज बन जाते हैं, तब हर क्षण अरुणोदय होता है, हर पल उत्कर्ष मनाता है,  हर दिवस पर्व बन जाता है । ****************************** आइये, संकल्प लें  और  कुछ नन्हे दीयों को सूरज बनायें। दीपपर्व – 2017  मंगलमय *****************************   निवेदक  पानी पोस्ट टीम

Continue reading
आज का लेख, समय विशेष

05 सितम्बर – भारतीय  राष्ट्रीय शिक्षक दिवस पर विशेष 

डी एन ए विकसित करने की भूमिका में आयें शिक्षक लेखक: अरुण तिवारी   शानदार इमारतें, आधुनिकतम उपकरण, तकनीक, उन्नत किस्में, नस्लें… आज हमारी चाहत का हिस्सा हैं। गारंटीप्रूफ इलाज, ऊंची आय, अधिकतम उत्पादन भी हम चाहते ही हैं। इन्हे बनाने, हासिल करने, चलाने, हासिल तथा प्रबंधन करने वाले हुनरमंदों को तैयार करने का काम निःसंदेह शिक्षकों का है, किंतु…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख, पानी लेख, प्रकृति लेख

समाज का प्रकृति एजेण्डा जगाती एक पुस्तक

  पुस्तक का नाम: समाज, प्रकृति और विज्ञान लेखक: श्री विजयदत्त श्रीधर, श्री राजेन्द्र हरदेनिया, श्री कृष्ण गोपाल व्यास, डाॅ. कपूरमल जैन, श्री चण्डी प्रसाद भट्ट संपादक: श्री राजेन्द्र हरदेनिया प्रकाशक: माधवराव सप्रे स्मृति समाचारप संग्रहालय, एवम् शोध संस्थान, माधवराव सप्रे मार्ग (मेन रोड नंबर तीन), भोपाल (म.प्र.) – 462003 संपर्क :  फोन: 0755-2763406 / 4272590,  ई मेल: [email protected]   पुस्तक…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख, प्रकृति लेख

गंगोत्री के हरे पहरेदारों की पुकार सुनो

लेखक: सुरेश भाई एक ओर ‘नमामि गंगे’  के तहत् 30 हजार  हेक्टेयर भूमि पर वनों के रोपण का लक्ष्य है तो दूसरी ओर गंगोत्री से हर्षिल के बीच हजारों हरे देवदार के पेडों की हजामत किए जाने का प्रस्ताव है। यहां जिन देवदार के हरे पेडों को कटान के लिये चिन्हित किया गया हैं, उनकी उम्र न तो छंटाई योग्य…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख, पानी लेख, प्रकृति लेख, समय विशेष

NAPM निमंत्रण : ‘मुक्त बहने दो’ पुस्तक विमोचन तथा उत्तराखंड में भूमि का सवाल पर चर्चा

जन आंदोलनों का राष्ट्रीय समन्वय, उत्तराखंड                      कंडी खाल, पो0 आ0 कैम्पटी वाया मसूरी, टिहरी गढवाल, उत्तराखंड–248179      09718479517, 9927145123 निमंत्रण  10 जून, 2017 शनिवार   समय- 11 बजे से 3.30 तक स्थान- जैन धर्मशाला, निकट प्रिंस चौक, देहरादून, उत्तराखंड                                            …

Continue reading
आज का लेख, प्रकृति लेख, समय विशेष

अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण दिवस २०१७ पर विशेष : जन जुड़ेगा तो बचेगा पर्यावरण

श्री अनुपम मिश्र जी और उनसे परिचय करती भेड़ें : यूँ जुड़े प्रकृति का हर अंग तो कुछ बात बने  आदरणीय / आदरणीया, नमस्ते .   अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण दिवस – 2017 का संयुक्त राष्ट्र संघ निदेशित वाक्य है – कनेक्ट विथ नेचर अर्थात प्रकृति से जुड़ें. इसके मायने को खोलता अरुण तिवारी लिखित लेख नवभारत टाइम्स के 05  जून के…

Continue reading
आज का लेख, जलतरंग, नदी लेख, समय विशेष

गंगा तट से बोल रहा हूं : अरुण तिवारी

हंसा तो तैयार अकेला , तय अब हम को ही करना है  स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद (प्रो जी डी अग्रवाल जी ) के गंगा अनशन (वर्ष 2013) पर छाई चुप्पी से व्यथित होकर अनशन के 100वें दिन श्री अरुण तिवारी ने एक अत्यंत मार्मिक आहृान किया था। मातृ सदन के स्वामी शिवानंद जी के अनशन पर हरिद्वार प्रशासन ने जिस प्रकार…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख, समय विशेष

04 जून-गंगा दशहरा पर विशेष : इच्छा मृत्यु मांगती मां की पुकार सुनें

  लेखक: अरुण तिवारी   ‘‘गं अव्ययं गम्यति इति गंगा। तुमने ही कहा कि मैं तुम्हे स्वर्ग ले जाने आई थी। मुझे तुम्ही इस धरा पर लाये थे। अब तुम्ही इस गंगा दशहरा पर मुझे मार क्यों नहीं देते ? तुमने मुझे मां से महरी तो बना ही दिया है। कोमा में भी पहुंचा ही दिया है। अब वापस मुझे…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख, समय विशेष

04 जून – गंगा दशहरा 2017 पर विशेष : ‘नमामि गंगे’ के तीन साल

उत्सव मनायें या रुदन गायें ?   लेखक: अरुण तिवारी   कहते हैं कि प्रधानमंत्री श्री मोदी जी जब बोलते हैं, तो उनकी बोली में संकल्प दिखाई देता है। गंगा को लेकर कहे उनके शब्दों को सामने रखें। स्वयं से सवाल पूछें कि गंगा को लेकर यह बात कितनी सत्य है ? गौर कीजिए कि मोदी जी ने इस संकल्प की पूर्ति…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख

उत्तराखंड में गंगा में खनन के खिलाफ मातृ सदन का अनशन

पुलिस ने की जबरदस्ती  समाचार एवं फोटो स्त्रोत : matrisadan.worldpress.com आश्रम में प्रशासन का बलपूर्वक प्रवेश May 31, 2017Uncategorized रविवार (28 May 2017) की संध्या पांच बजे हरिद्वार जिला प्रशासन के लोग भारी पुलिस बल साथ लेकर आश्रम में आये और ईंधन वाला कटर लेकर श्री गुरुदेव जी के पवित्र कक्ष का ग्रिल काटकर मुख्य दरवाज़ा से पहले मच्छरजाली दरवाज़ा को…

Continue reading

Popular posts

ई दस्तावेज : हिण्डन-यमुना-गंगा नदी पंचायत निर्णय

हिंडन-यमुना-गंगा पंचायत का निर्णयदिनांक 11 जून, 2015 1. संदर्भ: गंगा के प्रवाह में प्रदूषित पानी की आवक औसतन 700 क्युसेक है; जबकि यदि पूरी क्षमता के साथ वर्षा जल...

Campaign in Poetry by Shri Bharat Lal Seth

श्री भरत लाल सेठसंपर्क : [email protected] ( ज्येष्ठ मास, शुक्ल पक्ष, तिथि दशमी, हस्त नक्षत्र, दिन मंगलवार। बिंदुसर के तट पर राजा भगीरथ का तप सफल हुआ। पृथ्वी पर गंगा...