गंगोत्री के हरे पहरेदारों की पुकार सुनो

लेखक: सुरेश भाई एक ओर ‘नमामि गंगे’  के तहत् 30 हजार  हेक्टेयर भूमि पर वनों के रोपण का लक्ष्य...

NAPM निमंत्रण : ‘मुक्त बहने दो’ पुस्तक विमोचन तथा उत्तराखंड में भूमि का सवाल पर चर्चा

जन आंदोलनों का राष्ट्रीय समन्वय, उत्तराखंड                      कंडी खाल, पो0 आ0 कैम्पटी वाया मसूरी, टिहरी गढवाल, उत्तराखंड–248179      09718479517, 9927145123...

अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण दिवस २०१७ पर विशेष : जन जुड़ेगा तो बचेगा पर्यावरण

श्री अनुपम मिश्र जी और उनसे परिचय करती भेड़ें : यूँ जुड़े प्रकृति का हर अंग तो कुछ बात...

04 जून - गंगा दशहरा 2017 पर विशेष : 'नमामि गंगे' के तीन साल

उत्सव मनायें या रुदन गायें ?   लेखक: अरुण तिवारी   कहते हैं कि प्रधानमंत्री श्री मोदी जी जब...

उत्तराखंड में गंगा में खनन के खिलाफ मातृ सदन का अनशन

पुलिस ने की जबरदस्ती  समाचार एवं फोटो स्त्रोत : matrisadan.worldpress.com आश्रम में प्रशासन का बलपूर्वक प्रवेश May 31, 2017Uncategorized रविवार...
आज का लेख, नदी लेख, प्रकृति लेख
गंगोत्री के हरे पहरेदारों की पुकार सुनो
आज का लेख, नदी लेख, पानी लेख, प्रकृति लेख, समय विशेष
NAPM निमंत्रण : ‘मुक्त बहने दो’ पुस्तक विमोचन तथा उत्तराखंड में भूमि का सवाल पर चर्चा
आज का लेख, प्रकृति लेख, समय विशेष
अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण दिवस २०१७ पर विशेष : जन जुड़ेगा तो बचेगा पर्यावरण
आज का लेख, नदी लेख, समय विशेष
04 जून - गंगा दशहरा 2017 पर विशेष : 'नमामि गंगे' के तीन साल
आज का लेख, नदी लेख
उत्तराखंड में गंगा में खनन के खिलाफ मातृ सदन का अनशन
आज का लेख, नदी लेख

नर्मदा सेवा यात्रा : जनांदोलनों के राष्ट्रीय समन्वय का सन्देश

  हमारी मांग : नर्मदा सेवा यात्रा का हिसाब और हासिल  बतायें   सिंहस्थ के बाद एक और खर्चीला कार्यक्रम मुख्यमंत्री शिवराज सिंहजी ने चलाया, वह था ‘नर्मदा सेवा यात्रा’ का। इस यात्रा में स्थानीय लोगों ने कही खाना खिलाया भी हो, तो भी करोडों का खर्च एकआम सभा पर। बडवानी जिला स्तर की एक मीटिंग ही करोड़ों की हुई । मीटिंग…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख

बिहार गाद संकट

समाधान, पहल और चुनौतियां लेखक: अरुण तिवारी जल संसाधन विभाग, बिहार सरकार द्वारा गंगा विमर्श हेतु 18-19 मई, 2017 को को इण्डिया इंटरनेशनल सेंटर, लोदी इस्टेट, नई दिल्ली में सेमिनार आयोजित किया गया था। आयोजन में मैने जो विचार साझा करने थे, समयाभाव के कारण कुछ ही कर पाया। आपसे पूरी बात साझा कर रहा हूं। हालांकि मैैं न कोई नदी…

Continue reading
पानी लेख, समय विशेष

दुष्काल मुक्त भारत अभियान : निमंत्रण-पत्र

  आदरणीया मित्रों,    नमस्कार! इस वर्ष देश के कई हिस्से भयंकर दुष्काल से प्रभावित हैं। प्रभावित क्षेत्रों में पहले ऐसा जलवायु परिवर्तन का असर नहीं होता था परन्तु कुछ वर्षों में ये क्षेत्र भी सूखे और बाढ़ की चपेट में एक साथ आने लगे। आजादी के बाद से भारत की केन्द्र और राज्य सरकारों ने जल प्रबन्धन के लिए…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख

एक नद्य ब्रह्मपुत्र: प्रथम संवाद

ब्रह्मपुत्र जैसा कोई नहीं  लेखक : अरुण तिवारी जैसे पूर्वोत्तर भारत के सात राज्यों के बिना भारत के बाजूदार नक्शे की कल्पना अधूरी है, वैसे ही ब्रह्मपुत्र के बिना पूर्वोत्तर भारत का कल्पनालोक भी अधूरा ही रहने वाला है। ब्रह्मपुत्र, पूर्वोत्तर भारत की संस्कृति भी है, सभ्यता भी और अस्मिता भी। ब्रह्मपुत्र बर्मी भी है, द्रविड़ भी, मंगोल भी, तिब्बती भी,…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख, समय विशेष

नर्मदा कार्ययोजना: कुछ विचारणीय सुझाव

07.05.2017 आदरणीय/आदरणीया नमस्ते। नर्मदा सेवा यात्रा 15 मई को सम्पन्न हो रही है। इससे प्रेरित होकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी श्री आदित्यनाथ जी द्वारा गंगा सेवा यात्रा हेतु 400 करोड़ रुपये मंजूर किए जाने के समाचार से आप अवगत ही होंगे। विदित हो कि नर्मदा कार्ययोजना हेतु विशेषज्ञ राय लेने की दृष्टि से मध्य प्रदेश शासन 08 मई को…

Continue reading
आज का लेख, पानी लेख, समय विशेष

28 अप्रैल – अक्षय तृतीया पर विशेष : आइये, पानी के व्यावसायीकरण को चुनौती दें

  पानी के बाज़ार के खिलाफ एक औजार : प्याऊ  लेखक: अरुण तिवारी   अक्षया तृतीया की हार्दिक शुभकामना ! अक्षय तृतीया को राजस्थान में ’आखा तीज’ कहते हैं। ‘आखा तीज’ यानी अबूझ सावा का दिन। अबूझ सावा यानी एक ऐसा मुहुर्त, जिस मुहुर्त में बिना किसी पण्डित या ज्योतिषी से पूछे कोई भी शुभ काम शुरु किया जा सकता…

Continue reading
आज का लेख, पानी लेख

एकमात्र तैरती झील लोकटक

  लेखक: अरुण तिवारी   लोकटक झील, भारत में ताजे पानी की सबसे बड़ी झील है। यह झील मणिपुर की राजधानी इम्फाल से 53 किलोमीटर दूर और दीमापुर रेलवे स्टेशन के निकट स्थित है। 34.4 डिग्री सेल्सियस का तापमान, 49 से 81 प्रतिशत तक की नमी, 1,183 मिलीमीटर का वार्षिक वर्षा औसत तथा पबोट, तोया और चिंगजाओ पहाड़ मिलकर इसका…

Continue reading
आज का लेख, पानी लेख

सबसे नम मावसीरम

लेखक: अरुण तिवारी   वायु, स्थान विशेष की मिट्टी का प्रकार, भूतल की परतें, परतों में भी चट्टानी परत की उपस्थिति-अनुपस्थिति, स्थान विशेष में होने वाली औसत वर्षा, वर्षा जल संचयन के ढांचे तथा जल संचयन व जलनिकासी की वस्तुस्थिति आदि मिलकर तय करते हैं कि किसी स्थान की पानी सोखने की क्षमता कितनी होगी। पानी सोखने की क्षमता तय करती…

Continue reading
आज का लेख, समय विशेष

24 अप्रैल राष्ट्रीय पंचायतीराज दिवस पर विशेष

  मुख्य लेख   आईने में अक्स देखने का वक्त     लेखक : अरुण तिवारी  अपने नये पंचायती राज की उम्र 24 साल हो गई है। आगे की दिशा निश्चित करने के लिए जरूरी है कि पंचायती राज के अभिभावक, आकलन करें। बतौर मानक, तीन कहानियां हमारे सामने हैं: केरल के सरपंच इलिंगों की कहानी, अलगू चैधरी व जुम्मन मियां…

Continue reading
आज का लेख, नदी लेख, पानी लेख, प्रकृति लेख

२२ अप्रैल – पृथ्वी दिवस पर विशेष : भाग 05

कैसे मनायें पृथ्वी दिवस ? लेखक :  अरुण तिवारी  पृथ्वी दिवस – हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी 22 अप्रैल को आ ही गया अंतर्राष्ट्रीय मां पृथ्वी का यह दिन। सोचना यह है कि हम इसे कैसे मनायें ? सीधे कहूं तो पृथ्वी दिवस पर दुनियाभर में गोष्ठी, सेमिनार, संवाद, कार्यशालायें आयोजित होती ही हैं। इनमें भाग ले सकते हैं;…

Continue reading

Popular posts

यमुना नाटिका

लेखक: अरुण तिवारी इस शिवरात्रि को मैं जीवन यात्रा के 53 वर्ष पूरे कर लिए। मैं जन्म से दिल्ली में हूं। 11 वर्ष का हुआ, तो रहने के लिए...

श्री श्री से अरुण तिवारी का अनुरोध

25.02.2016 प्रतिष्ठा में श्री श्री रविशंकर जी  आर्ट आॅफ लिविंग भारत संदर्भ: विश्व सांस्कृतिक उत्सव आयोजन (11-13 मार्च, 2016) स्थल विषयः स्थान परिवर्तन हेतु अनुरोध माननीय गुरुदेव, प्रणाम। हमने...